Wednesday, July 24th, 2024
Close X

जल के लिए जान पर बन आई, दिल्ली में हुई खूब लड़ाई, मारपीट में तीन लोग जख्मी हो गए हैं

नई दिल्ली
दिल्ली में जल की समस्या अब जान की दुश्मन बनती जा रही है। द्वारका जिले में पानी के लिए जबरदस्त मारपीट हुई है। इस मारपीट में तीन लोग घायल हो गए हैं। दिल्ली पुलिस ने इस बात की जानकारी दी और यह भी साफ किया है कि इस मारपीट में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है। दिल्ली पुलिस की तरफ से जानकारी दी गई है कि द्वारका जिला इलाके में एक सार्वजनिक नल से पानी भरने के लिए मारपीट हुई है।

इस मारपीट में तीन लोग जख्मी हो गए हैं और इन्हें इंदिरा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया है कि मारपीट को लेकर दो पीसीआर कॉल आए थे। इस मारपीट में कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं हैं। मारपीट को लेकर दो पक्षों की शिकायत के बाद 2 केस दर्ज किए गए हैं। दिल्ली पुलिस की तरफ से जानकारी दी गई है कि दोनों पक्षों के बयान की जांच-पड़ताल की जा रही है।

भीषण गर्मी के बीच दिल्ली में जल की बड़ी समस्या बनी हुई है। जल के मुद्दे पर जमकर राजनीतिक बयानबाजी भी हो रही है। आम आदमी पार्टी की नेता और दिल्ली की जल मंत्री ने आरोप लगाया है कि साजिश के तहत दिल्ली की पाइपलाइन को लीक कर दिया गया ताकि लोगों को पानी ना मिल सके। उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से आग्रह किया है कि दिल्ली में पानी की पाइपलाइन की सुरक्षा बढ़ाई जाए। दिल्ली के एक और मंत्री सौरभ भारद्वाज ने सवाल उठाते हुए पूछा है कि आखिर यह पाइपलाइन कौन तोड़ रहा है? इसकी जांच होनी चाहिए।

इधर पानी की समस्या से परेशान लोगों ने छतरपुर स्थित दिल्ली जल बोर्ड के कार्यालय में तोड़फोड़ भी की है। बीजेपी के नेता रमेशा बिधूड़ी ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह एक भ्रष्ट सरकार है। वो भ्रष्टाचार के आरोपों से खुद को बचाने के लिए नैरेटिव बदलना चाहते हैं। दिल्ली जल बोर्ड में कोई ऑडिट नहीं हुआ है। दिल्ली जल बोर्ड 70,000 करोड़ रुपये के नुकसान में है। यह एक भ्रष्ट सरकार है। छतरपुर में DJB के दफ्तर में हुई तोड़फोड़ पर बिधूड़ी ने कहा, 'यह स्वभाविक है। जब लोग गुस्से में होते हैं तब वो कुछ भी कर सकते हैं। मै उन वर्करों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने इन लोगों को नियंत्रित किया।'

बीजेपी के सांसद मनोज तिवारी, 'हर साल पानी की किल्लत होती है। आतिशी किसको धोखा दे रहे हैं? आतिशी को व्हाइट पेपर लाना चाहिए और यह बताना चाहिए कि पिछले 10 सालों में कौन से पाइप बदले गए हैं। ये लोग आलसी हैं। उनके पास ना कोई नीति है और ना कोई इच्छाशक्ति वो सिर्फ खजाने को लूटना चाहते हैं। मैं आतिशी से कहना चाहता हूं कि झूठ बोलने की भी हद होती है। दिल्ली के लोग उन्हें सजा देंगे। दिल्ली ऐसे लोगों को नहीं चाहती है जो बहाना बनाते हों। दिल्ली के लोग समस्या को खत्म करना चाहते हैं।'

 

Source : Agency

आपकी राय

12 + 7 =

पाठको की राय